उर्दू की इस बज्म के बिना कैसे कहेंगे आप गजल