जब इश्क ‘होते हुए भी’ नहीं होता है और ‘नहीं होते हुए’ भी होता है