जब पैर दबाने के बदले मिर्जा ग़ालिब ने शागिर्द को दिया था मायूस करने वाला जवाब

मिर्जा ग़ालिब के बारे में मशहूर किस्सों की भी लंबी दास्तां है। उन्होंने ग़मों को भी इस दिलचस्प अंदाज में जीया कि उनकी कोई मिसाल नहीं मिलती। फिर जिस तरह की हाजिरजवाबी के मालिक मिर्जा गालिब थे, उसे सुनकर बरबस ही ठहाके छूटते हैं। वो खुद कहते हैं- होगा कोई ऐसा भी जो ग़ालिब को न जाने / शायर तो वो अच्छा है पे बदनाम बहुत है.