न‌िसार की आवाज में म‌िर्जा गाल‌िब की गजल ‘द‌िल-ए-नादां तुझे हुआ क्या है’